To the Brave and Peace-seeking People of the Kashmir Valley - कश्मीर घाटी के बहादुर और अमन पसंद लोगों के नाम

By Vikalp Sangam Core Group on Oct. 24, 2019 in Politics

As you endure over two months of communication lock-down (partially lifted only in mid-October) and disruption of daily life, we, members of the Vikalp Sangam Core Group, wish to share our serious concern about your well being and safety.

Your amazing history of commitment to a syncretic tradition and inclusive secular vision has been exemplary and inspirational for all of us committed to peoples alternative democracy. Your resilience and courage to face the indignities and the violence heaped upon you has caused us deep pain.

We are specially concerned about the safety of girls and women and mothers of young children and young men who have been put into prison without any provocation by them.We are deeply aware and worried about the families who are spending sleepless nights over the fate of the loved ones, many of whom are incarcerated and tortured with no access to their where abouts.

We do hope and pray that the children of Kashmir will be able to overcome the mental trauma they are presently subjected to, at the earliest.

We are in admiration of your culture and practice that believe in secular, inclusive democracy and multi-cultural, multi-religious spiritual values (Kashmiriyat). As Vikalp Sangam we believe in democracy and non violence and stand with you against any violation of fundamental rights of people of the region.

We express our solidarity with you in your fight against all forms of violence be they from State or non State actors. We also consider denying access to basic services including access to heath, education, access to information, and other entitlements as a form of violence.

We earnestly desire, hope and promise to support you and keep your satyagraha in fighting for preserving the secular and democratic framework as enshrined in Indian Constitution and your own Constituent Assembly's principles and the UN declaration of Human Rights.

We urge all parties in the Valley to respect human rights and civil liberties.

We appeal to all citizens of India to support human rights in Kashmir -- regardless of what their views or position are about how to solve the conflict in Kashmir.

We make this appeal on the grounds that fundamental rights are above all politics and must be honoured without bias or prejudice of any kind.

We will continue to stand by your right as a people to participate meaningfully in deciding your future.

We look forward to our common future and hope to be able to visit you soon.

Vikalp Sangam Core Group (www.vikalpsangam.org)

Vikalp Sangam is a network of organisations and initiatives searching for and working on sustainable and just alternatives.

(All participants of the Vikalp Sangam process do not necessarily agree with all aspects of this statement, but are in general agreement with its intent and purpose)

23 October 2019

कश्मीर घाटी के बहादुर और अमन पसंद लोगों के नाम

आप पिछले दो महीनो से ज्यादा  से अपनी रोजमर्रा की ज़िन्दगी में रूकावट और आपस में तथा देश के दूसरे हिस्सों से संवाद के सारे रास्ते बंद होने (जो आंशिक रूप से मध्य अक्टूबर मे ही उठाया गया) की परेशानियो का सामना कर रहे हैं l इसके चलते विकल्प संगम के कोर जुट के हम सभी साथी आपकी सुरक्षा और खुशहाली को लेकर अपनी गंभीर चिंता व्यक्त करते हैं|

हम सभी, जम्हूरियत को इंसानियत के बुनियादी उसूलों के लिए संकल्पित हैं| उनके लिए आपका धर्मनिरपेक्ष नज़रिया और घाटी की सांझी परम्परा को बनाये रखने के प्रति आस्था एक प्रकार का अप्रतिम उदहारण है |

हम ख़ासतौर पर छोटे-छोटे बच्चों की माओं, महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं l हमारी चिंता उन लड़कों को लेकर भी है कि जो बिना किसी जायज वजहों के जेल की सलाखों के पीछे डाल दिए गए हैं |

हमें इस बात की जानकारी और चिंता भी है कि घाटी के कई परिवार अपने प्रियजनों की चिंता में जागकर रातें काट रहे हैं जिन्हें तरह-तरह की यातनाएं दी जा रही हैं और उनके परिवारों को यह जानकारी भी नहीं दी जा रही है कि वे अभी कहाँ हैं|

हम उम्मीद और दुआ करते हैं कि जल्द ही कश्मीर के बच्चे उस गहरी तकलीफ़ से उभर पायेगें जिसे वो अभी झेल रहे हैं|

हम आपकी संस्कृति और जीने के उन तौर तरीकों की तहेदिल से प्रंशसा करते हैं जो सांझी जम्हूरियत और बहु-सांस्क्रतिक, बहु-धार्मिक मूल्यों (कश्मीरियत) पर टिके हुए हैं | 

विकल्प संगम के हम सभी साथी जम्हूरियत और अहिंसा के मूल्यों पर यकीन रखते हैं और कश्मीर के लोगों के बुनियादी हक़ों के उल्लंघन के सख्त ख़िलाफ़ हैं |

हम राज्य या राज्य से बाहर की किसी भी प्रकार की ताकतों की मार्फत आप पर की जा रही हिंसा के ख़िलाफ़ हैं और आपकी लड़ाई में पूरी प्रतिबद्धता के साथ आपके साथ खड़े हैं l हम स्वास्थ्य, शिक्षा, सूचनाओं तक पहुँच और अन्य किसी प्रकार लोगों की बुनियादी अधिकारों के हनन को भी एक प्रकार की हिंसा के रूप में देखते हैं l

भारत के संविधान, आपकी अपनी संवैधानिक सभा में सभी के द्वारा स्वीकारे गए मूल्यों, सिद्धान्तों और मानव अधिकारों पर सयुंक्त राष्ट्र घोषणा में उल्लिखित लोकतान्त्रिक ढांचे को बचाए रखने के लिए आपके द्वारा किये जा रहे सत्याग्रह में हम आपको अपना पूरा समर्थन देने का वायदा कर रहे हैं l हमारा विश्वास और उम्मीद है कि आप अपनी लड़ाई में कामयाब होंगे l

हम घाटी में मौजूद सभी पक्षों से मानव अधिकारों व नागरिक स्वतंत्रता का सम्मान करने की गुज़ारिश करते हैं l

हम हिंदुस्तान के सभी नागरिकों से कश्मीर के मानव अधिकारों की बहाली के लिए अपना समर्थन देने की अपील करते हैं l हमारी उम्मीद है कि ये समर्थन वे कश्मीर के मुद्दे को किस तरह सुलझाया जाना चाहिए इस विषय पर उनका क्या नज़रिया है, इससे परे जाकर कश्मीर के आवाम के हक़ में देंगे l

हम अपने भविष्य को तय करने में आपकी पूरी भागीदारी के अधिकार की लड़ाई में आपके साथ खड़े रहेंगे l

हम आपके साथ अपने सांझे भविष्य की और आशा भरी नज़रों से देख रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि हम जल्दी ही आपसे आकर मिल पायेंगे l

विकल्प संगम न्याय संगत और विकल्पों की खोज में जुड़ी संस्थाएं और सभी व्यक्ति आपके साथ हो रही हिंसा और तरह-तरह की अमानवीय घटनाओं का विरोध करते हैं और हम गहरी पीड़ा / तकलीफ़ महसूस कर रहे हैं l जिस साहस और निडरता के साथ आप उसका सामना कर रहे हैं हम आपके उस ज़ज्बे को सलाम करते हैं l 

हम यह अपील इस आधार पर कर रहे हैं कि बुनियादी हक़ों का मसला किसी भी राजनीतिक सोच से ऊपर है और ये हक़, बिना किसी पक्षपात और शर्तों के, हर किसी को मुहैय्या होने चाहिए l

विकल्प संगम का कोर जुट  

विकल्प संगम टिकाऊ और न्यायपूर्ण विकल्पों की खोज मे लगे संगठनों और पहलों का एक नेटवर्क है, www.vikalpsangam.org

 

(जरूरी नही है कि विकल्प संगम के सब प्रतिभागी इस वक्तव्य के हर शब्द से सहमत हों, पर इसके आम अर्थ मक्सद से सहमत हैं)
२३ अक्टूबर २०१९



Story Tags: community, diversity, disprivileged, human rights, psychological, values, secular, security, democracy, conflict, conflict resolution, well-being

Comments

There are no comments yet on this Story.

Add New Comment

Fields marked as * are mandatory.
required (not published)
optional
Stories by Location
Google Map
Events