विकल्प संगम ने वैकल्पिक ऊर्जा विकास से सम्बंधित 'बोधगया घोषणा' को जारी किया (in Hindi)

By संगम संयोजक on March 11, 2016 in Energy


एनर्जी डेमॉक्रेसी के विजन स्टेटमेंट से लैस है यह घोषणापत्र

०७ मार्च, गया, पटना : बोधगया में आयोजित ऊर्जा विकल्प संगम में देश भर से आये संगठनों ने पर्यावरणीय दृष्टी से सततशील और सामाजिक-आर्थिक समानता के आधार पर बिजली क्षेत्र में सार्थक बदलाव पर चर्चा की. बिहार को विकल्प संगम के महत्वपूर्ण स्थल के रूप में चुनने की वजह यह है की यह राज्य अपने लोगों के लिए बिजली उपलब्ध कराने के लिए उत्सुक है और इसके लिए दूसरी राह पर चलना चाहता है, पर साथ की यह परमाणु ऊर्जा और कोयला जनित ऊर्जा परियोजनाओं जैसे खतरनाक उपायों पर विचार रहा है, जिसके विपरीत प्रभाव और महंगे सौदे पर दुनिया भर में लगातार बहस जारी है.

इस बैठक में देश के विभिन्न इलाकों में काम कर रहे संगठनों जैसे एन ए पी एम, पी एम ए एन ई, सी ई ई डी, सेलको, प्रयास (एनर्जी ग्रुप), कल्पवृक्ष, ग्रीनपीस इंडिया और अॉक्सफेम इंडिया से जुड़े करीब ७० लोगों ने शिरकत की. कार्यक्रम में मौजूद एनर्जी एक्सपर्ट्स, प्रैक्टीशनर्स और सिविल संगठनों ने वर्तमान बिकास मॉडल से जुड़ी चुनौतियों और भावी विकल्पों पर विचार-विमर्श किया.

ऊर्जा संगम में शामिल लोग, धरनई के ग्रामवासियों के साथ - फोटो अशीष कोठारी

पूरा प्रेस रिलीज पढ़िए

सम्पूर्ण घोषणापत्र अंग्रेज में पढ़िए

वीडियो देखिये (अंग्रेज़ में) Toward Energy Democracy: Vision Statement



Story Tags: solar power, solar, energy, ecological sustainability, democracy

Comments

There are no comments yet on this Story.

Add New Comment

Fields marked as * are mandatory.
required (not published)
optional
Stories by Location
Google Map
Events